Predefined Colors

    Rakshabandhan Special

    रक्षाबंधन भाई बहन के प्रति एक अलौकिक प्यार भरा त्योहार है जिसमें बहन अपने भाई की दीर्घायु सबल आरोग्यता ऐष्वर्य की कामना करते हुए रक्षासूत्र कलाई पे सुशोभित करती है वही भाई अपनी बहन के प्रति भी सभी प्रकार की उत्तम कामना के साथ रक्षासूत्र से सुशोभित होकर अपनी बहन को उसकी रक्षा हेतु दृढ़ संकल्प करता है।

    आइये जानते है कुछ विशेष :

    रक्षाबंधन का श्लोक
    येन बद्धो बलिः राजा दानवेन्द्रो महाबलः।
    तेन त्वाम प्रतिबधनामी रक्षे मा चल मा चल॥

    रक्षाबंधन का धार्मिक महत्व भाई बहनों के अलावा पुरोहित भी अपने यजमान को राखी बांधते हैं इस प्रकार राखी बंधकर दोनों एक दूसरे के कल्याण एवं उन्नति की कामना करते हैं।

    नोट-: समय देश काल स्थान व्यवस्था एवं पंचांग अनुसार रहेंगे ।

    🌴।।रक्षाबंधन विशेष।।🌴

    पूजा की थाली में ये 7 चीजें अनिवार्य रूप से होनी चाहिए।
    इस दिन सभी बहनें अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधने से पहले एक विशेष थाली सजाती है. इस थाली में 7 खास चीजें होनी चाहिए।

    1. कुमकुम*
    2. अक्षत (चावल)
    3. नारियल
    4. रक्षा सूत्र (राखी)
    5. मिठाई
    6. दीपक
    7. गंगाजल से भरा कलश

    ये 7 खास वस्तुएं क्यो रखे?

    (1) कुमकुम- बहन भाई को कुमकुम का तिलक लगाती है जो सूर्य ग्रह से connected है और दुआएँ करती है कि आने वाले साल में भाई को हर प्रकार का यश और ख्याति प्राप्त हो।

    (2) चावल(अक्षत) – पूजा में चावल को सबसे शुभ माना जाता है। बहन भाई को कुमकुम के तिलक के ऊपर चावल लगाती है, जो कि शुक्र ग्रह से connected है और दुआएँ करती है कि “मेरे भाई के जीवन में हर तरह की शुभता आए और मेरा मेरे भाई से हमेशा प्रेम बना रहे।

    (3) नारियल – इसको पूजा में श्रीफल कहा जाता है। यह राहु ग्रह से connected है। बहन जब भाई को श्रीफल देती है तो इसका अर्थ है कि आने वाले वर्ष में भाई को सभी प्रकार के सुख सुविधा के resources मिले।

    (4) रक्षा सूत्र (राखी) – रक्षासूत्र हमेशा दाएँ हाथ (right hand) की कलाई पर बांधा जाता है। यह मंगल ग्रह से connected है, जो कहता है कि बहन की दुआएँ हैं कि उसके भाई सभी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष मुश्किलों से उसकी रक्षा करें।

    (5) मिठाई- बहन भाई को मिठाई खिलाती है जो कि गुरु ग्रह से connected है, और दुआ करती है कि उसके भाई पर लक्ष्मी की कृपा रहे। भाई के संतान और वैवाहिक जीवन भी सुखद रहे। भाई के घर में सभी कार्य निर्विघ्न पूरे हों।

    (6) दीपक- फिर बहन भाई की दीपक से आरती करती है, जो शनि और केतु ग्रह से connected है और दुआएँ करती है कि मेरे भाई के जीवन में आने वाले रोग और कष्ट सभी दूर हों।

    (7) जल से भरा कलश – फिर जल से भरे कलश से भाई की पूजा करें, जो कि चंद्रमा से connected है, जिसमें बहन दुआएँ करती है कि मेरे भाई के जीवन में मानसिक शांति हमेशा बनी रहे।

    (8) GIFT – मित्रों !! ऊपर की इन 7 चीजों में बहन की दुआओं के साथ आप के 8 ग्रह शुभ होते हैं। अब रहा नवाँ ग्रह – बुध। बुध ग्रह को बहन का कारक ग्रह माना गया है। अब आप जो बहन को उपहार देंगे उससे आपका बुध ग्रह शुभ होकर फल देगा। कहते हैं बुध ग्रह जो आपके व्यापार से connected है, अगर आपकी बहन या भाई की दुआएँ मिल जाए तो आपके व्यापार में वृद्धि कर देता है। इसलिए हमेशा अपनी बहन को गिफ्ट देकर उनकी दुआएँ लेते रहें।

    तो ये थे रक्षा सूत्र के कुछ logic, जिसमें बहन की दुआओं से भाई का आने वाला समय शुभ होता है। इसलिए हर्ष के साथ अपनी बहन की दुआएँ लीजिए।

    Trusted Since 2000

    Trusted Since 2005

    Millions of Happy Customers

    Millions of happy Customers

    Users from Worldwide

    Users from Worldwide

    Effective Solutions

    Effective Solutions

    Privacy Guaranteed

    Privacy Guaranteed

    Safe and Secure

    Safe and Secure


    Request a Callback

    Astroguruvani में आपका स्वागत है। कृपया इस छोटी सी फॉर्म को भरें, हमारे आचार्यगण आपसे जल्द ही संपर्क करेंगें। Please fill our short form and one of our  team members will contact you back.

    X
    Request a Callback